Punarjanmm

''बहुत हुई यह शल्यचिकित्सा कटे हुए अंगों की,
कब तक यूँ तस्वीर संवारें बदरंगी रंगों की.
बीत गया संवाद-समय, अब करना होगा कर्म;
नए समय की नयी जरूरत है ये पुनर्जन्म''
अब समय मात्र संवाद का नहीं रहा.. समय परिवर्तन का है, परिणामोत्पादक
प्रक्रिया का है, परिणाम का है, पुनर्जन्म का है..
'पुनर्जन्म' हर मर चुकी व्यवस्था का, समाज की शेष हो चुकी रूढ़ियों का,
बजबजाती राजनीति का..
बहुत से शेष प्रश्नों को सामने रखने और उन्हें एक तार्किक परिणति तक
पहुँचाने का एक प्रयास...


Visit and enjoy the site Punarjanmm, belonging to category Society

in
punarjanmm.blogspot.com
0.0/5 for 0 rate
0
06-10-2010

Related sites Punarjanmm

The Other Side
this blog is dedicated to social issues and...
Sambhawnaon Ka Shahar
This is a blog of literature. Poems written by...
Rogers Park
Welcome to Rogers Park! This site is a...
Blog de psicología y temas de interés general
Blog de psicología y temas de interés. Un...
When there is sun, the stars disappear.
politics, economics, science, sports, humor
 
Powered by Blogerzoom © 2018    Contact    Newsletter | WebSeoRank | SeeTravelSpot |